Trending

महिला उद्यमियों के सशक्तिकरण के लिए वूमन एंटरप्रेन्योरशिप प्लेटफॉर्म व ट्रांसयूनियन सिबिल ने शुरू किया प्रोग्राम 'सहर'

साणंद (गुजरात) मुख्यालय वाली ममता मशीनरी लिमिटेड ने सेबी के समक्ष दाखिल किया ड्राफ्ट रेड हेरिंग प्रॉस्पेक्टस (डीआरएचपी)

नेक्स्ट भारत वेंचर्स – सुजुकी की पहल, भारत के उद्यमियों को सशक्त बनाने और नेक्स्ट बिलियन भारतीयों की समस्याओं का समाधान करने के लिए 340 करोड़ रुपये का फंड लॉन्च

एनवायरो इंफ्रा इंजीनियर्स लिमिटेड ने सेबी के पास दाखिल किया ड्राफ्ट रेड हेरिंग प्रॉस्पेक्टस (डीआरएचपी)

जानी-मानी कैंसर विशेषज्ञ डॉ. (प्रोफेसर) ज्योति बाजपेयी ने लीड-मेडिकल एंड प्रिसिजन ऑन्कोलॉजी (मुंबई और महाराष्ट्र क्षेत्र) के रूप में अपोलो कैंसर सेंटर ज्वॉइन किया।

आर्मी इंफोटेक लिमिटेड ने आईपीओ के जरिए ₹250 करोड़ जुटाने के लिए सेबी के पास दाखिल किया डीआरएचपी

 

आर्मी इंफोटेक लिमिटेड ("कंपनी" या "एआईएल") ने बाजार नियामक भारतीय प्रतिभूति और विनिमय बोर्ड ("सेबी") के पास अपना ड्राफ्ट रेड हेरिंग प्रॉस्पेक्टस ("डीआरएचपी") दाखिल किया है।

कंपनी इक्विटी शेयरों (अंकित मूल्य ₹10 प्रत्येक) के आरंभिक सार्वजनिक निर्गम के जरिए कुल निर्गम आकार के बराबर धनराशि जुटाने की योजना बना रही है, जिसमें ₹25,000 लाख [₹250 करोड़] तक के इक्विटी शेयरों का नया निर्गम शामिल है ("कुल निर्गम आकार")।

कंपनी सेक्टर एग्नस्टिक है और सरकारी/सार्वजनिक क्षेत्र के उपक्रमों (पीएसयू) और निजी क्षेत्र दोनों के लिए विभिन्न प्रकार की परियोजनाओं के लिए आईटी इंफ्रास्ट्रक्चर समाधान और आईटी प्रबंधित सेवा प्रदान करती है। इसमें सरकारी/पीएसयू परियोजनाओं पर ध्यान केंद्रित किया जाता है और गुजरात राज्य में इसकी प्रमुख उपस्थिति है।

कंपनी इस निर्गम से प्राप्त शुद्ध आय का उपयोग निम्नलिखित के लिए करने का प्रस्ताव करती है--

(i) कंपनी की कार्यशील पूंजी आवश्यकताओं में वृद्धि, जिसका अनुमान ₹ 16000 लाख [₹ 160 करोड़] तक है, वित्तीय वर्ष 2025 और वित्तीय वर्ष 2026 में विभिन्न परियोजनाओं के लिए बोली लगाने हेतु बयाना राशि जमा करना और बैंक गारंटी के लिए मार्जिन जमा करना; (ii) कंपनी द्वारा लिए गए कुछ बकाया उधारों का पूर्व भुगतान या पुनर्भुगतान, जिसका अनुमान ₹ 1,063.22 लाख [₹ 10.63 करोड़] तक है; और शेष राशि सामान्य कॉर्पोरेट उद्देश्यों के लिए।

शुद्ध आय से चुकाने के लिए प्रस्तावित ऋण (₹ 1,063.22 लाख की राशि) 31 दिसंबर, 2023 तक कंपनी के कुल बकाया उधार का 26.30% है।

रेड हेरिंग प्रॉस्पेक्टस के माध्यम से पेश किए जाने वाले इक्विटी शेयरों को बीएसई लिमिटेड ("बीएसई") और नेशनल स्टॉक एक्सचेंज ऑफ इंडिया लिमिटेड ("एनएसई" बीएसई के साथ, "स्टॉक एक्सचेंज") स्टॉक एक्सचेंजों में सूचीबद्ध करने का प्रस्ताव है।

खंडवाला सिक्योरिटीज लिमिटेड और सैफरन कैपिटल एडवाइजर्स प्राइवेट लिमिटेड इस इश्यू के बुक रनिंग लीड मैनेजर हैं ("बीआरएलएम")।

Post a Comment

Previous Post Next Post

Contact Form